Treatment Of Back Pain During Period : पीरियड्स में पेट दर्द, कमर दर्द का इलाज, कारण और उपाय

 

Treatment Of Back Pain During Period / Period me kamar dard ka ilaj : हम सभी अच्छी तरह से जानते हैं कि महिलाओ को पीरियड्स क्यों होता हैं और पीरियड में क्या होता हैं लेकिन इस बात से आज कल की नई लडकिया ख़ासकर अंजान है कि पीरियड्स में पेट दर्द क्यों होता हैं पीरियड्स में कमर दर्द क्यो होता  हैं, साथ ही पीरियड्स में पेडू और पैरों में दर्द क्यों होता हैं इस विषय पर कोइ भी चर्चा नहीं करते, परंतु आज हम इस लेख में पेट और कमर दर्द से परेशान रहने वाली उन सभी नई लड़कियों और महिलाओं के लिए इनसे निपटने के कुछ महत्वपूर्ण टिप्स लेकर आए है।

Treatment Of Back Pain During Period : पीरियड्स में पेट दर्द, कमर दर्द का इलाज, कारण और कम करने के उपाय

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को परेशानी होना,पेट में ऐंठन अनुभव होना, कमजोरी महसुस होना, साथ ही पेट से लेकर कमर तक हल्का दर्द महसूस होना स्वाभाविक हैलेकिन अगर पीरियड्स में कमर और पेट दर्द ज्यादा गंभीर हों जाएं, असहनीय दर्द होने लगें तो उस स्थिति में  महिलाओं को अधिक परेशानी झेलना पड़ता है (Treatment Of Back Pain During Period)

हम सभी अक्सर पीरियड्स में निकलने वाली खून, थका खून, काला खून के बारे में और उसके उपाय पर तो बात करतें हैं लेकिन पीरियड आने पर पेट दर्द का उपाय और निदान, पीरियड में पेट पैर कमर दर्द के कारण, पीरियड में पेट दर्द कमर दर्द का घरेलू इलाज के बारे में बात करेंगें। अगर आप भी पीरियड के दौरान होने वाले दर्द से परेशान रहते हैं तो यह लेख आपके लिए हैं तो चलिए जानते हैं विस्तार से :- (Treatment Of Back Pain During Period)

Table of Contents

पीरियड में कमर दर्द पेट दर्द क्यों होता हैं। ( Treatment Of Back Pain During Period)

पीरियड में कमर दर्द पेट दर्द क्यों होता हैं। ( Treatment Of Back Pain During Period)

पीरियड के दौरान महिलाओ में होने वाली कमर दर्द, पेट दर्द, पेडू दर्द और पैर दर्द के कई सारे कारण है जो निचे दिए गए हैं:

1. यूटेराइन कांट्रेक्शन

पीरियड एक एसी चीज़ है जो एक ख़ास उम्र के बाद में लडकियो में होना स्वाभाविक है लेकिन उस दौरान दर्द के मुख्य कारण में से मेंस्ट्रुएशन के टाइम यूट्रस कॉन्ट्रैक्ट होता है जो लाइनिंग खून के जरिए निकल जाती हैं और यह कांट्रेक्शन प्रकिया कई बार काफी तेज हो जाता है जिस वजह से यूटराइन मसल्स पर मेंस्ट्रूअल ब्लड बाहर निकलने के लिए लगातर प्रेशर बनता है, और यही वजह है कि पीरियड के दौरान लड़कियों को दर्द अनुभव होता है।

2. इन्फ्लेमेशन ( Treatment Of Back Pain During Period)

जब महिला को मासिक धर्म शुरू होता हैं तो पेल्विक एरिया में ब्लड और टिशु की मौजूदगी हो जाती है जिससे  उस महिला के बॉडी के अंदर इन्फ्लेमेटरी रिस्पांस ट्रिगर बन जाता है, और इस वजह से भी आपको पेट कमर दर्द   का अनुभव होता है।

3. हार्मोनल बदलाव ( Treatment Of Back Pain During Period)

मेंस्ट्रुएशन के टाइम महिलाओ के शरीर में हार्मोन में कई तरह के बदलाव आते रहते हैं, खास कर एस्ट्रोजेन नाम का हार्मोन्स और प्रोजेस्टेरॉन नाम का हार्मोन के स्तर में तेजी से बदलाव होती है, जिस वजह से पीरियड्स टाइम  महिलाओं को असहनीय दर्द का अनुभव होता है।

4. एंडोमेट्रियोसिस( Treatment Of Back Pain During Period)

एंडोमेट्रियोसिस नाम के रोग से पीड़ित महिलाओं को भी पीरियड्स के टाइम तेज कमर दर्द और पेडू दर्द अनुभव होता है कई महिलाओ को पैर में दर्द महसूस होता हैं यदि आपका दर्द हर पीरियड्स के दौरान होता हैं तो आपकों अपनें  डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

5. फाइब्रॉएड ( Treatment Of Back Pain During Period)

यूटराइन के अंदर फाइब्रॉएड गर्भाशय की एक ऐसा चीज़ है जो आपको गैर-कैंसरयुक्त वृद्धि की ओर धकेलता है ये उन सभी महिलाओं में देखा गया हैं जो भारी मासिक धर्म रक्तस्राव, तेज श्रोणि दबाव महसूस करती है, जिस वजह से ऐंठन और कमर दर्द का शिकार होना पड़ सकता हैं यह एक गम्भीर समस्या है।

6. पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज ( Treatment Of Back Pain During Period)

यह ज्यादातर शादी शुदा महिलाओ में देखा गया हैं जो बच्चे को जन्म देना चाहती है इसमें महिलाओ के प्रजनन अंगों में संक्रमण हो जाता है, जिससे पैल्विक और कमर दर्द होने के चांस बढ़ जाता हैं खासकर पीरियड्स दौरान। इस संक्रमण होने के कई लक्षण हैं जैस बुखार होना और योनि स्राव का अनुभव।

पीरियड्स में पेट दर्द और कमर दर्द के कारण – ( Treatment Of Back Pain During Period)

इसके अतिरिक्त पीरियड्स में पेट दर्द और कमर दर्द होने के कई कारण होते हैं जो निचे दिए गए हैं:

योनि से अतिरिक्त रक्तस्त्राव

पहले बच्चे के जन्म देने के बाद

प्रोस्टाग्लैंडिन हार्मोन का अतिरिक्त बन जानें पर

कम उम्र में या पहली बार पीरियड्स की शुरूआत होने पर

पीरियड में कमर दर्द क्यो होता हैं।

योनि से अतिरिक्त रक्तस्त्राव होने से, पहले बच्चे के जन्म देने के बाद, प्रोस्टाग्लैंडिन हार्मोन का अतिरिक्त बनाना और कम उम्र में या पहली बार पीरियड्स की शुरूआत होने पर भी कई बार कमर में दर्द होता हैं।( Treatment Of Back Pain During Period)

पीरियड में पेडू में दर्द क्यों होता हैं।

  • यूटेराइन कांट्रेक्शन
  • इन्फ्लेमेशन
  • हार्मोनल बदलाव
  • एंडोमेट्रियोसिस
  • फाइब्रॉएड और पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज के कारण पेडू में दर्द होता हैं।

पीरियड में दर्द क्यों होता हैं / पीरियड में पेट दर्द क्यों होता हैं ।

  • यूटेराइन कांट्रेक्शन
  • इन्फ्लेमेशन
  • हार्मोनल बदलाव
  • एंडोमेट्रियोसिस
  • फाइब्रॉएड और पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज के कारण पेट दर्द होता हैं।

पीरियड्स के समय पेट दर्द और कमर दर्द उपाय- (Treatment Of Back Pain During Period)

पीरियड्स में कमर दर्द और पेट दर्द के इलाज –

पीरियड में कमर दर्द का घरेलू उपाय : ऊपर हमने इस लेख में पीरियड्स में होने बाली पेट दर्द और कमर दर्द के बारे में जाना है अब हम उन सभी दर्द से राहत कैसे पाएं,पीरियड्स में कमर दर्द के उपाय, पीरियड्स में पेट दर्द के उपाय, Period me kamar dard ka ilaj,पीरियड में पेट दर्द कैसे ठिक करे आदी के बारे में जानेंगे।

पीरियड आने पर पेट दर्द का उपाय और मालिश : ( Treatment Of Back Pain During Period)

पीरियड्स दौरान होने वाली दर्द से निजात पाने के लिए आप कुछ विशेष तेलों का इस्तेमाल कर सकते है यह भी एक कारगर इलाज है इस प्रकार की तेल आपकों मार्केट में आसनी से मिल जायेंगे। जो आपके पीरियड्स वाली दर्द से निजात पाने में मदद करता है. यह पीरियड में कमर दर्द का घरेलू उपाय है इनमे ज्यादातर आयुर्वेदिक तेल ही मिलते है जिनमे कई तरह के गुण पाए जाते हैं। इनमें से कुछ तेलों के बारे में हम बता रहें हैं जो निम्न हैं:

1. लैवेंडर का तेल (Treatment Of Back Pain During Period)

सबसे पहले आप लैवेंडर का तेल – 3 से 4 बूंद और उस में नारियल का तेल तथा जोजोबा का तेल एक चम्मच लेकर सभी तेलों को आपस में मिला दे। उसके बाद उस
मिश्रण को अपने दर्द की हिस्से पर यानि की पेट व कमर के निचले स्थान पर हल्के हाथों से लगा लें। इसके साथ साथ यदि आप दूसरा उपाय चाहते हैं तो वह है कि आप  लैवेंडर ऑयल की कुछ बूंदे को पहले गर्म पानी में डालें और उस पानी भाप ले।

इस तरीके को अगर आप अच्छे ढंग एक दिन में 1 से 2 बार करती हैं तो आपकी मासिक धर्म में होने वाले दर्द बिलकुल खत्म हो जाएगी। इतना ज्यादा कारगर और गुणकारी तेल है

2. पिपरमिंट का तेल( Treatment Of Back Pain During Period)

पिपरमिंट का तेल से भी आप आपनी पीरियड्स में होने वाली दर्द को कम कर सकती है उसके लिए आपको 3 से 4 बूंद पिपरमिंट का तेल एक बर्तन में रखना है फिर उस तेल में नारियल का तेल व जोजोबा का तेल  भी एक-एक चम्मच रख कर एक मिश्रण बना लेना है।

उसके बाद में उस तेल के मिश्रण को अपने दर्द वाले स्थान पर हल्के हाथों से लगा लेना है और फिर हल्के हाथों से ही करीब दो मिनट तक मसाज करें।इस उपाय को आपकों दिन में केवल एक बार करना है और जब दर्द हों तब।

पिपरमिंट में मैंथोल के तत्व पाए जाते हैं जिस कारण से यह खुशबूदार होने के साथ साथ अन्य सारे दर्द व थकान को भी दूर करने मे हेल्प करता है।

पीरियड टाइम में पेट दर्द से राहत के लिए गर्म बोतल का उपयोग –

अगर आपको मासिक धर्म में पेट दर्द होता हैं तो आप उसके लिए घरेलू उपचार कर सकते हैं जिसके लिऐ आप एक Heating pad या फिर कांच की बोतल में आप गर्म पानी को डाल दे उसके बाद में आप उस गर्म पैड को या फिर गर्म बोतल से अपने पेट, पेडू और दर्द वाले कमर के हिस्से पर सिकाई करनी होती है आपकों यह सिकाई  करीब दस से पंद्रह मिनट तक करना है इसका एक और घरेलू नुस्खे है जिसमे आप गर्म पानी में सूती कपड़े को भीगो दे और फिर उसे निचोड़ लें और दर्द वाले स्थान पर  थोड़ी-थोड़ी देर रखकर सिकाई करें।

आप इस उपाय को पीरियड्स के टाइम होने वाली दर्द से राहत पाने के लिए, थोड़े-थोड़े समय के अंतराल में करते रहें, और तब तक करे जब तक आपका दर्द कम नहीं हो जाता है।

गर्म पानी से सिकाई करना, पीरियड्स टाइम में होने वाले दर्द को दूर करने के लिए, एक कारगर इलाज है और जो काफी पुराना उपचार हैं यह एक प्रकार का घरेलू उपचार हैं जिसे करने के बाद दवाइयों की कोइ जरुरत नहीं है।

पीरियड में क्या क्या खाना चाहिए।

जब भी किसी महिला को पीरियड्स होती है जिसमें से शरीर में थकान दर्द महसूस होना, कमजोरी महसूस होना जैस कई सामस्या होती है लेकिन आप यदि पीरियड के टाइम में पौष्टिक आहार के सेवन करते हैं तो आपके बॉडी में खून की कमी का सामना नहीं करना होता है। विटामिन ए बी, लोहे और मैग्नीशियम सोडियम भरपूर खाद्य पदार्थों का ही भरपूर सेवन करना चाहिए। साथ ही आप को हरी पत्तेदार सब्जियां, फल,बादाम आदि खाने चाहिए। जिससे बॉडी में ताकत बनी रहती हैं।

सॉफ्ट ड्रिंक, फास्ट फूड, जंक फ़ूड और तेल मसाले वाले भोजन से बचना चाहिए। इससे आपके पेट में दर्द बड़ा हों सकता हैं। (Treatment Of Back Pain During Period)

विटामिन डी लेते हैं तो इस से भी दर्द को कम किया जा सकता हैं जैसे में आप खाने में मछली, पनीर, अंडे, संतरे आदी जूस व दालों को शामिल कर सकती है।

मासिक धर्म में कमर दर्द पेट दर्द दूर करने के लिए लें हर्बल चाय –

महावारी के वक्त सुबह सुबह अगर महिलाएं हर्बल टी लेना प्रारम्भ करती है तो मासिक धर्म के दौरान होने वाली असहिनीय दर्द को दूर किया जा सकता या फिर आपकों दर्द हों ही न। लेकिन उसके लिए ध्यान देने वाली बात यह है कि वह चाय पुरी तरह से प्राकृतिक चाय होना चाहिए।(Treatment Of Back Pain During Period)

1. ग्रीन टी – Treatment Of Back Pain During Period

सबसे पहले आप ग्रीन टी – एक पैकट ले और उसे हल्का गर्म पानी में डूबा कर रखे, पानी एक कप ही होना चाहिए और उसमे आधा चम्मच शहद रख लें। और फिर हर्बल चाय को पी जाएं। अगर आपका दर्द ज्यादा है तो आप दिन में दो से चार बार इस चाय को पी सकती हैं।

2. कैमोमाइल चाय – Treatment Of Back Pain During Period

इसके लिए आपको कैमोमाइल चाय – एक पैकट लेनी हैं और एक कप गर्म पानी में आधे चमच शहद के साथ मिला कर रख देना है और जब चाय ठंडी हो जाएं तो आपकों बह चाय पी लेनी है, इस चाय का सेवन दिन में
कम से कम दो बार जरूर करना चाहिए।

पीरियड्स में पेट दर्द कमर दर्द से निजात पाने के लिए लें अदरक –

पीरियड में पेट दर्द में क्या खाएं। अदरक महावारी के वक्त होने वाली महिलाओ की दर्द से छुटकारा दिलाने में अहम भूमिका अदा करता है यह पुरी तरह से एक घरेलू उपचार हैं जिसे पीरियड में कमर दर्द इलाज के बेहतरीन तरीके माने जाते हैं इसके लिए आप 50 ग्राम अदरक का पेस्ट ले, फीर उसे एक कप गर्म पानी में करीब आधा चम्मच शहद के साथ मिला दे। और फिर उस पेस्ट को पीरियड में पेट दर्द और कमर दर्द के समय में गर्म पानी में मिलाकर सेवन करें।(Treatment Of Back Pain During Period)

इस से आपको ताजगी महसूस होगी साथ ही थकान भी दुर हो जायेंगे। इसका इस्तमाल दिन में तीन बार करे।( Treatment Of Back Pain During Period)

पीरियड्स के दौरान कमर दर्द पेट दर्द मे करें तुलसी का प्रयोग –

पीरियड्स टाइम में अगर आप तुलसी पते इस्तेमाल करती हैं या फिर रोज 10 से 12 पते का सेवन करती है या फिर उन पते से एक या आधा ग्लास पानी में जूस बना कर पीती है तो आप यकीन मानिए आपकी पीरियड में होने वाली कमर दर्द से राहत पा सकते हैं साथ ही आप ताजगी महसूस करेंगी। इस तुलसी काढ़े को आप दिन में  तीन बार सेवन करें।

पीरियड्स में कमर दर्द और पेट दर्द से छुटकारा पाने के लिए सेंधा नमक का इस्तेमाल –

Treatment Of Back Pain During Period : आप महावारी के वक्त होने बाली दर्द को कम करने के लिए सेेंधा नमक का इस्तमाल कर सकते है  – एक कप
सेंधा नमक को एक बाल्टी हल्के गर्म पानी में पहले मिला दे और फीर आप उसी पानी से स्नान कर लें।इस से आपकी दर्द में काफी कमी आयेगी।

पीरियड्स के दर्द से बचने के लिए मेथी दाना का उपयोग –

एक चम्मच मेथी दाना को पानी में रख देते हैं और कुछ समय बाद में उस मेथी पानी का सेवन करती है तो आप अपने मासिक धर्म के दौरान कमर व पेट के निचले हिस्से में होने वाले दर्द में राहत पा सकते हैं यह एक बहुत ही कारगर इलाज है। लेकिन ध्यान रहे आपको मेथी पानी का सेवन अगली सुबह खाली पेट ही करना है।( Treatment Of Back Pain During Period)

मासिक धर्म दर्द से छुटकारा पाने के लिए करें पैरों की मसाज –

महावारी के वक्त हमारे पैरों में जांघो में साथ ही पूरे शरीर  प्रेशर प्वाइंट ज्यादा होते हैं तो अगर आप किसी अच्छे मसाज करने वाले जगह पर जाते हैं तो आप अपने कमर दर्द, पैर दर्द को राहत दे सकती है।

पीरियड्स टाइम में पेट दर्द और कमर दर्द होने का लक्षण –

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को एक या दो नहीं कई तरह की समस्याओं का भी सामना करना होता है जो निचे दिए गए हैं:(Treatment Of Back Pain During Period)

पेट और पेडू के निचले हिस्से में ऐंठन और तेज दर्द होना

सिरदर्द

जी मिचलाना

हल्के दस्त

थकान और चक्कर ।

FAQ For Treatment Of Back Pain During Period :

Q. पीरियड में एक्सर्साइज कर सकते हैं।

जी हां कर सकते है।

Q.पीरियड में कैसे सोना चाहिए।

पेट के बल होकर या फिर करवट लेकर।

Q पीरियड में पेट दर्द कम कैसे करें।

1. हीट थेरेपी
2. हाइड्रेटेड रहें
3. हेल्दी डाइट लें
4. बैक मसाज लें
4. ओवर द काउंटर मेडिसिंस
5. एक्सरसाइज स्ट्रेचिंग करें
6. योग में भाग लें

Q. पीरियड में पेट दर्द हों तो क्या करे।

हीट थेरेपी
2. हाइड्रेटेड रहें
3. हेल्दी डाइट लें
4. बैक मसाज लें
4. ओवर द काउंटर मेडिसिंस
5. एक्सरसाइज स्ट्रेचिंग करें
6. योग में भाग लें

Q.पीरियड में दर्द महसूस हो तो क्या करे।

हीट थेरेपी
2. हाइड्रेटेड रहें
3. हेल्दी डाइट लें
4. बैक मसाज लें
4. ओवर द काउंटर मेडिसिंस
5. एक्सरसाइज स्ट्रेचिंग करें
6. योग में भाग लें

Q.पीरियड में कमर दर्द हो तो करें।

हीट थेरेपी
2. हाइड्रेटेड रहें
3. हेल्दी डाइट लें
4. बैक मसाज लें
4. ओवर द काउंटर मेडिसिंस
5. एक्सरसाइज स्ट्रेचिंग करें
6. योग में भाग लें

निष्कर्ष:

आज का यह लेख पीरियड के टाइम कमर में दर्द होना , Treatment Of Back Pain During Period, पीरियड में कमर दर्द और पेट दर्द के उपाय ,पीरियड में पेट दर्द का होना और उसका इलाज के बारे हैं अगर आप ऊपर लेख में दी गई तमाम बातों पर अमल करती है तो महावारी के वक्त दर्द से राहत पा सकतें हैं।

इस लेख में हमने पीरियड में पेट दर्द का टोटका ,पीरियड में पेट दर्द का इलाज और पीरियड में दर्द होने पर क्या क्या खाना चाहिए उन सभी बातों को बारीकी से बताया  है. आपको Treatment Of Back Pain During Period का जानकारी कैसा लगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top