10+ Sports Activities for Disabilities : दिव्यांग द्वारा खेलों में भागीदारी बढ़ाई जानी प्रमुख खेल

Sports Activities for disabled | sports activities for disabilities of india | sports activities for disabilities essay | physical activities and disabilities | fun activities for special needs students | Sports Activities for Disabilities

( Sports Activities for Disabilities People): किसी भी व्यक्ति के लिए विकलांगता एक श्राप हैं लेकिन उन्हीं मे कुछ विकलांगता को अपनी कमजोरी न मानकर एक फैशन मान ले रहे हैं जिसमे कुछ लोग जन्मजात से विकलांग होते हैं तो कुछ लोग बड़े होने पर विकलांग हों जाते है जिसके कई सारे कारण होते हैं उनमें स्पाइनल इंजुरी से पीड़ित लोग भी व्हील चेयर पर आ जाते है और वे इसपे रहते हुए पुनः ठीक होने के लिए प्रयास करते रहते है तो साथ में मनोरंजन के लिए या एक्सरसाइज़ के लिए किसी भी खेल को अपना लेते है।

10+ Sports Activities for Disabilities : दिव्यांग द्वारा खेलों में भागीदारी बढ़ाई जानी प्रमुख खेल
Sports Activities for Disabilities

और यहीं कारण हैं कि बीते कुछ वर्षों में, विकलांग लोगों में खेल के प्रती रूचि बढ़ी है बल्कि वे लोग विकलांगता को फैशन मानते हुए विभिन्न खेलों में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहें हैं जिसमे मुख्य रुप से पैरालंपिक खेलों के  अंदर विकलांग लोग अपनी प्रतिभा को दुनियां को दिखा रहे हैं पैरालंपिक खेलों के साथ साथ अन्य विकलांगता से आधारित खेल में अपना करियर बना रहे हैं।

पैरालंपिक खेलों के अलावा स्पाइनल इंजुरी या अन्य कई कारणो से विकलांग लोगों के खेलने और साथ ही अलग अलग कसरत करने के लिए सैकड़ों खेल हैं जिनका यूज  एक विकलांग व्यक्ति अपने खेल और मनोरंजन के साथ साथ वह ये सुनिश्चित कर सकते हैं कि ये खेल किस तरह से हमारे शारीरिक और मानसिक रूप से मदद कर सकते हैं और ठीक होने में मदद कर सकता है।

इन सभी गतिविधियों और विभिन्न खेल आदी को जानने के लिए आप यह पुरा जरुर पढ़े। जो विकलांगता और व्हील चेयर पर बैठ खेल सकते हैं साथ ही यह तय कर सकते हैं कि, दीर्घकालिक विकलांगता या किसी बीमारी से पीड़ित व्यक्ती कौन कौन सा खेल में हिस्सा ले सकते हैं

Note:- यह मै आपको बता दें कि इस ( games for disabled person) लेख में बताए गए किसी भी खेल को हम शारीरिक फिटनेस और बिमारी से ठीक होने के लिए नही कह रहा हूं और नहीं इस बात की गारंटी दे रहा हूं बल्कि यह बताने का और जागरूक करने का प्रयास कर रहा हूं कि बहुत सारे एसे व्हील चेयर पर बैठे लोग, स्पाइनल इंजुरी व्यक्ति या अन्य विकलांग से ग्रसित लोग की यह इच्छा होती है कि वह भी एक स्वस्थ व्यक्ती जैसा कोइ खेल खेलें और अपनी प्रतिभा को दुनियां के सामने रखें।

शीर्ष 10 विकलांगता-अनुकूल खेल और फिटनेस गतिविधियाँ : ( Top handicapped sports)

1.बैंड मिनटन:- ( Sports Activities for Disabilities )

1.बैंड मिनटन:- (Sports Activities for  Disabilities
image Credit By -gettyimages

यह एक ऐसा खेल है जिसके लिए कही से भी यह ज़रूरी होता होता हैं कि व्यक्ती पुरी तरह से फिट हो। अगर आप दिव्यांग है व्हील चेयर पर है तो आप आसनी से यह खेल सकते है जिसके लिए कम से कम दो लोगों की जरुरत होती हैं. बैडमिंटन खेल कर आप खुद को फिट भी रख सकते हैं बल्कि आप बड़े बड़े राष्ट्रिय या अंतर राष्ट्रिय खेलों में भी हिस्सा ले सकते हैं और एसे दुनिया में बहुत सारी लोग है जिन्होंने व्हील चेयर पर बैठ अच्छा बैडमिंटन स्टार बना हैं और नाम कमाया है.

हालाकी ये बात भी सही है कि सभी व्यक्ती जो व्हील चेयर मैन है वह यह खेल नही खेल सकते है क्यों कि कई सारे लोग होते हैं जिन्हे स्पाइनल इंजुरी के बाद हाथ तक काम नहीं करते हैं और एसे स्थिती में कोइ व्यक्ति आसनी से तो नही खेल सकते है लेकिन आजकल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का जमाना है हों सके तो वह व्यक्ती इसका इस्तेमाल कर खेल सकते है।

2.सिट टू स्टैंड: – ( Sports Activities for Disabilities )

खड़े होना और फिर बैठ जाना सिट टू स्टैंड एक कसरत है जो उन सभी विकलांगता वाले लोगों के लिए बेस्ट है जिनके शरीर के निचले हिस्से कमजोर है या फिर स्पाइन में इंजुरी होने के वजह से निचला हिस्सा काम नहीं करते हैं, और खेल को खेलने से निचला हिस्सा में सुधार होने के साथ साथ आप खेल का मजा भी ले सकते हैं।

प्रक्रिया:

सबसे पहले अपने दोनों पैरों को सामने के किनारे वाली  कुर्सी पर रखें, और आप यह सुनिश्चित करें कि आपके दोनों पैर जमीन पर तथा पैर के घुटनों के पीछे सपाट रहें।

उसके बाद आप धीरे से अपने शरीर के ऊपरी हिस्से को आगे की तरफ़ झुकाएं तथा आप ऐसा सोचो कि जैसे:-  आप खुद को खड़े होने की स्थिति में खुद को धकेल रहे हों।

उसके बाद पुनः आप अपने शारीर को धीरे धीरे अपने बैठने की उसी स्थिति में लौटाएँ। जहा से आपने शुरु की थी।

इस कसरत को करते समय आपके बांहों को थोड़ी देर के लिए तकलीफ हो सकती है खासकर उससमय जब आप अपनें बॉडी के ऊपरी हिस्से को खुद को ऊपर धकेलना पड़ता है।

इस व्यायाम के दौरान आपके घुटने पर ज्यादा लोड पड़ सकता है तब आप अपनी बाजुओं का वहा पर मादत ले सकते हैं लेकिन ज्यादा विकलांगता होने पर आप अकेले इस एक्सर्साइज को नहीं कर सकते हैं उससे गिरने का चांस हो सकता है अतः आप इसके लिए अपने किसी सहायक का हेल्प ले सकते हैं जो आपको धीरे से उठाए और झुकाएं। तब उस परिस्थिति में आपकी मानसिक रूप से यह कसरत करना होगा।

इसके अलावा आप वर्कटॉप, क्रॉसबार अथवा ग्रैब रेल के जैसे आधुनिक उपकरण के बारे में सोचें। इनके समर्थन  का उपयोग करके, अब आप अपने पैर पर जितना संभव हो उतना बल आसनी से लगा सकते हैं साथ ही आप अपने बॉडी को जितना सम्भव हो सके उतना ऊपर आप आसनी से खींच सकते हैं।

3.शतरंज:- ( Sports Activities for Disabilities )

3.शतरंज:- ( Sports Activities for Disabilities )

अगर आप दिव्यांग है और व्हील चेयर पर है तो आपके लिए शतरंज खेल एक सुनहरा अवसर है. इसके लिए किसी भी प्राकार की कोइ योग्यता की जरुरत नहीं होती हैं और नही मेहनत करनी होती है इस खेले को खेलने के लिए आपको केवल मानसिक रुप से तैयार रहना होगा।
क्यों कि यह दिमाग का खेल है जिसे दुनिया भर में खेला जाता हैं। शतरंज खेल खेलने के लिए भी दो लोगो की जरुरत होती है, और अगर आप अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो आप राष्ट्रिय या अंतर राष्ट्रिय खेलों में भी हिस्सा ले सकते हैं।

4. व्हीलचेयर बास्केटबॉल :-( physical activities for disabled people)

व्हीलचेयर बास्केटबॉल :

व्हीलचेयर बास्केटबॉल एक ऐसा खेल होता है जो अलग अलग शारीरिक अक्षमताओं वाले लोग आसनी से खेल सकते है खासकर उनके लिए जो व्हील चेयर पर है या जिनके निचले अंगों ठीक से काम नही करता और जो लोग खुद से उठ या बैठ नही सकता है। इस खेल को स्पाइनल इंजुरी व्यक्ति, अंग-विच्छेदन, सेरेब्रल पाल्सी, दुर्घटनाओं के बाद होने वाली अन्य विकलांगता लोग खेल सकते है।

इस खेल को खेलने के लिए, किसी भी व्यक्ति को जो कि शारिरिक रूप से विकलांग है उसे अपने कंधों, भुजाओं, पेट और छाती की मांसपेशियों के साथ साथ अपने ऊपरी शरीर पर पूरा नियंत्रण रखना होगा।

प्रक्रिया:

यदि आप व्हीलचेयर बास्केटबॉल को खेलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने शारीर के निचले अंगों को पुरी तरह से पहले मजबूत करना होगा।और, स्कोर करते वक्त अपने पैरों को फर्श पर यानी व्हील चेयर पायदान पर पुरी बल लगाकर अपने शरीर को व्हील चेयर सीट से ऊपर उठाने की यथा संभव कोशिश करें। साथ ही आपको यह भी ध्यान रखना चाहिए कि आपका शरीर नरम लैंडिंग कर रहा है, और अपनें उस ऊंचाई पर भी नज़र रखें।

5.व्हील चेयर फुटबॉल:-( Sports Activities for Disabilities )

यह खेल भी दिव्यांग व्यक्तियों द्वारा खेला जाता हैं जिसके लिए खास तरह की एक अलग रूल बनाया जाता हैं और इसे खेलने के लिए खेलने वाले लोगो की संख्या अधिक होनी चाहिए। जिसे आप रिहैब सेंटर या अन्य कई जगहों पर जाकर खेल सकते है क्यों कि वहा अन्य दिव्यांग व्यक्ति आपको मिल जाएंगे। इस खेल को आप घर बैठे और अकेले नहीं खेल सकते है हां यदि चाहें तो आप बास्केट बॉल खेल सकते है।

6. बैठा हुआ घुटना ऊपर उठाना :-( Sports Activities for Disabilities )

जो लोग स्पाइनल इंजुरी या अन्य कारणो से विकलांग हों गए हैं और वह अपनें हिप फ्लेक्सर्स को मजबूत करना चाहते हैं तो उनके लिए सीटेड-नी-रेजेज एक बेस्ट उत्कृष्ट है, हिप फ्लेक्सर्स में हम अपनें कूल्हे के आसपास स्थित मांसपेशियां को मजबूत करते हैं और उस क्षेत्र में गति में लाने का प्रयास करते हैं, क्यों अगर किसी व्यक्ति के कूल्हे की मांसपेशिय कमज़ोर है तो उन्हे अकसर चलने फिरने में कठिनाई होती है। और वैसे लोगों के लिए बैठे-घुटने उठाना एक सर्वोत्तम उपचार है साथ में एक खेल भी ।

प्रक्रिया:

सबसे पहले आप बैठ जाएं और अपने  एक घुटने को ऊपर की ओर तब तक उठाएं जब तक कि आपका पैर जमीन से कुछ इंच ऊपर न हो जाए।( porting activities for the disabled individuals)

फिर उसके बाद में आप अपने घुटने को धीरे से उसी स्थिति में एक बार लाएँ जहाँ से आपने शुरुआत की थी। और इस प्रक्रिया को बार बार दोहराएं।

आप जब अपने पैरों के घुटने को ऊपर की ओर उठाते हैं तो उस वक्त आपको थोड़ी बहुत समस्याओं का अनुभव हो सकता है।

यदि आप ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो इसके लिए आपको अपने टखने को मोड़ने पावर स्कूटरों का प्रयोग करके आप अपने एक पायदान ऊपर की ओर ले जा सकते हैं।

7. बैठा हुआ ट्राइसेप डिप्स सीटेड( Sports Activities for Disabilities )

बैठा हुआ ट्राइसेप डिप्स सीटेड-(Sports Activities for Disabilities)
Sports Activities for Disabilities

ट्राइसेप-डिप्स वैसे लोगों के लिए एक बढ़िया खेल और साथ ही एक कसरत हैं जिनके शरीर के ऊपरी हिस्से में अच्छी खासी ताकत और नियंत्रण भी है इस व्यायाम का मुख्य उद्देश्य है आपके ट्राइसेप्स, छाती की मांसपेशियों तथा कंधों के सामने की मांसपेशियों की ताकत देना और मज़बूत करना है. यदि आप किसी चोट या अन्य कारणो के वजह से व्हीलचेयर उपयोग करते हैं, तो यह कसरत और अभ्यास आपको व्हीलचेयर से स्थानांतरित होने में काफी ज्यादा मदद करेगा।

प्रक्रिया:

जब आप व्हील चेयर पर बैठे तो अपने हाथों को अपनी व्हीलचेयर के पास के किसी अन्य सहारे पर रखें। और तब आपकों अपनें हाथों को कुछ इस प्रकार से रखना हैं कि आपके कंधों यानी गर्दन के नीचे स्थित हों।

उसके बाद आपको अपने शरीर को ऊपर की ओर उठाएं जहां आपकी दोनों भुजाएं पूरी तरह से फैली हों।

उसके बाद पुनः अपने बॉडी को एक बार फिर अपने ही स्थान पर लाएं। जिस रूप में आप पहले बैठे थे।

आपको हमेशा अपने पैरों का उपयोग करके आप अपनी भुजाओं के प्रयासों को पूरा कर सकते हैं।

8.रेज़िस्टेंस बैंड :-( Sports Activities for Disabilities )

यह एक ऐसा कसरत है जो सभी प्राकार के चोटिल लोग जो अब विकलांग लोगों के श्रेणी में आ गए है उनके लिए उत्तम कसरत और खेल हैं। जो उन्हें अपने शरीर के नीचे की हिस्सें को यानी कमर, जांघ और पैर को नियंत्रण की अनुमति देता है। साथ ही आपकों खड़े होकर बैठने में भी सहयोग करता हैं। यह व्यायाम जांघ की मांसपेशियों  को मजबूत बनाने में सहयोग करता है।(physical activities for special needs childs)

प्रक्रिया:

इस खेल की प्रकिया बैठने की शुरुआत से होती है जिस के लिए एक प्रतिरोध बैंड ( रबड़) को अपने दोनो हाथों के छोर को जोर से पकड़ें। ताकी गलती से भी वह छूट न जाए। उसके बाद रबड़ बैंड के मध्य भाग को अपने एक पैर के नीचे तलवा में रखें। और फिर आप प्रतिरोध-बैंड पर इतना ज्यादा पावर लगाए या ऊपर की खींचे जिसे ये लगे कि आपका पैर मुड़ा हुआ दिख रहा हों। और आपका पैर का घुटना आपकी ठुड्डी की तरफ़ हो। और एसे ही कुछ सेकंड के लिए उस रबड़ बैंड को तनाव में रखें और फिर अपने पैर को ज़मीन की ओर पुरी शक्ती से धकेल कर सीधा करने की प्रयास करें।

9. सीटेड शोल्डर प्रेस :-( Sports Activities for Disabilities )

सीटेड शोल्डर प्रेस :-(Sports Activities for Disabilities
Sports Activities for Disabilities

यदि आप दिव्यांग है या आपके परिवार में कोई विकलांग हैं तो उनके लिए यह व्यायाम सबसे उपयुक्त है जो उन सभी लोगों के लिए हैं जिनके कंधे की मांसपेशियों कुछ कमज़ोर है और उसमे ताकत बढ़ाना चाहते हैं, जिससे उनकी हाथों में ताकत में सुधार हो जाएं। साथ ही आप किसी वस्तु को मजबूती के साथ पकड़ नहीं पाते या वो हाथ से छूट जाता हैं तो यह उन विकलांगता के लिए है।

प्रक्रिया:

अपने दोनों हाथों में एक या दो किलो ग्राम का वजन को  लें, फिर आप अपनें व्हील चेयर या किसी आरामदायक कुर्सी पर अपने शरीर को सीधा करके बैठ जाएं। उसके बाद आप उस वज़न को अपने कंधे से ऊपर की ओर उठाएं। फिर जब तक आप ऊपर रोक सकते है उसे रोकने का प्रयास करे और उसके बाद धीरे से अपने हाथ को नीचा करे।और जब आप यह प्रकिया कर रहे हो तो यह ध्यान दे कि  आपकी हथेलियाँ आगे की ओर हों।

10. रिवर्स क्रंचेस :-( Sports Activities for Disabilities )

जितने भी विकलांगता वाले लोग हैं उन्हे रिवर्स क्रंचेस की करने की सिफारिश आम तौर पर डॉक्टर लोग भी करते हैं यह कसरत उन सभी लोगों के लिए है जिनका पेट की मांसपेशियों काफी कमज़ोर हो चुका है और इसे लगातार करते रहने से पेट की मांसपेशियों की ताकत में सुधार होती हैं।

प्रक्रिया:

सबसे पहले आप फर्श पर बैठें और उसके बाद आपकों अपने घुटनों के बल 90 डिग्री के कोण पर मोड़ कर बैठे।

फिर उसके बाद धीरे-धीरे अपने ऊपरी शरीर को पीछे की ओर मुड़ते हुए धकेलें और अपनें शरीर को जमीन पर सपाट कर दे।

फीर धीरे धीरे से आप अपने पूराने स्थिति में वापस आ जाएँ।

और इस प्रकिया को आप कई बार करने का प्रयास जरुर करे जीतना सभंव हो आपसे।

निष्कर्ष: –

आज हमने इस लेख में जाना कि Sports for person with intellectual disabilities,Sports for disabled in india,Famous disabled person in sports,Disabled sports person in India के बारे में विस्तार से जाना। इसके अलावा Best Motivational books for Inspiration, Best Motivational ( Sports Activities for Disabilities ) के प्रकार आदी के बारे में विस्तार से जानकारी दी है.

मुझे उम्मीद है कि आपको यह विकलांगता खेलों में भागीदारी को कैसे प्रभावित करती है? का लेख पसंद आया होगा। परंतु आपको इससे जुडी कोइ भी प्रश्न है तो आप हमें मेल या कॉमेंट जरुर करे।

एसे ही लेख को पढ़ने और दिव्यांगता स्वास्थ्य संबंधित
कोइ भी जानकारी का अपडेट पाने के लिए हमारे ब्लॉग मन की शक्ति ” PowersMIND” से जुडे़। और साथ में शेयर करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top